भारत जो की दुनिया का सातवा सबसे बड़ा देश है , और दूसरा सबसे बड़ी जनसंख्या वाला देश है | यहाँ पर लगभग अस्सी प्रतिशत लोग हिन्दू धर्म को मानते है | हिन्दू धर्म जो की दुनिया का सबसे पुराना धर्म है और हिन्दू मान्यताओं के अनुसार इनके भगवान् कोई कहानी नहीं है बल्कि वो एक सच है | एक ऐसा सच जो कभी धरती पे हुआ करता था, या फिर आज भी है | सभी भगवानो की एक अलग कहानी है, एक अलग संस्कृति है, जिसे हम मानते है | बहुत से हिन्दू धर्म का पालन करने वाले लोग मानते है की भगवान् असली है, उनका भी एक रूप है, फिर चाहे वो कभी दिखाए न दिए हो | दुनिया के दूसरे लोगो के मुकाबले हिन्दू धर्म मानने वाले यह मानते है की भगवान् असली है |


    हम हज़ारो सालो से ऐसा मानते आ रहे है कि कुछ देवीय शक्तियों ने हमें जीवन जीने और सुधारने में मदद की। फिर चाहे वो धरती का का कोई भी कोना हो। और अगर ऐसा सच हो जाये तो क्योंकि मानव जाति के पास ऐसा कोई सबूत नहीं है कि कोई शक्ति के द्वारा ऐसा हुआ था। लेकिन हमारे मन में ये सवाल है कि पुराने मंदिर किसने बनवाये। हज़ारो साल पुरानी मूर्तिया कैसे बनी?


    आज हम बात करेंगे अपने भूतकाल की और थोड़े बहुत इतिहास की | हमारे भूतकाल में कुछ तो ऐसा था जो हमें आज तक पता नहीं है, या फिर अगर पता भी है तो इतना ज्यादा नहीं की हम निश्चिन्त होकर कह सके की हारे पूर्वज कौन थे | और इसके भी आगे हमारे उन पूर्वजो का इतिहास जिनको हम भगवान् के रूप में भी जानते है | उनमे भी कुछ ऐसे है जिनको हम जानते है और कुछ ऐसे जिनको हम नहीं जानते | लेकिन हमें इतना तो विशवास है की वो यहाँ आये थे और कही न कही से वो हमपर नज़र रखे हुए है | और शायद ऐसा भी हो सकता है की वो अब भी यहाँ आते हो और इंसानो के संपर्क में भी हो |


    Advertise with us


    क्या आपको नहीं लगता की ग्रीक और रोमन भगवानो के साथ एक बहुत ही पुराण इतिहास जुड़ा हुआ है | जब से इंसान का अस्तित्व है तब ही से पुराने रीति रिवाज भी तभी से प्रचलन में है | और यही नहीं जो हमारे नए रीति रिवाज है उनमे भी पुराने रीति रिवाजो की झलक मिलती है |


    एक सवाल की इंसान का अंतरिक्ष में जाना किसी भी तरह से फायदेमंद है या नहीं | यह बात तो सबके मन में आती होगी की धरती की समस्याओ को पहले सुलझाओ और उसके बाद आगे की सोचो , क्योंकि धरती पर भी बहुत साड़ी समस्याएं है जिनको सुलझाना बहुत जरूरी है |


    एक सवाल की इंसान का अंतरिक्ष में जाना किसी भी तरह से फायदेमंद है या नहीं | यह बात तो सबके मन में आती होगी की धरती की समस्याओ को पहले सुलझाओ और उसके बाद आगे की सोचो , क्योंकि धरती पर भी बहुत साड़ी समस्याएं है जिनको सुलझाना बहुत जरूरी है |


    Damascas के उत्तर में Baalbeck की छत है , यह एक प्लेटफार्म की तरह है जो की पूरे पत्थरो से बना है | इसके किनारे 65 फ़ीट लम्बे और वजन करीब 2000 टन के आस पास है | और अभी तक वैज्ञानिक और खगोलशास्त्री यह नहीं बता पाए है की किसका निर्माण क्यों किया गया है | रूस के एक प्रोफेसर जिनका नाम Agrest है उन्होंने आशंका जताई है की यह जगह एक space center हो सकता है |


    एक अनकही दुनिया

    1 year(s) ago | Edited: 10/31/2018

    हमारा इतिहास एक ऐसा इतिहास है जिसे टुकड़ों में जोड़ा गया है, यह टुकड़े लोगों की ज़बान से आए और कुछ आधी अधूरी किताबों से, कुछ दीवारों पर बने हुए चित्रों से और कुछ ख़ुदाई में मिले अवशेषों से।


    क्या ऐसे भी कुछ साधन है जिनसे यह पता लगाया का सके की और किस जगह इंसानो जैसे लोग रहते है । यह प्रयोग वैज्ञानिक पिछले कई सालों से करते आ रहे है, लेकिन बिना किसी सफलता के ।